Bounce rate kaise kam kare easy method

Website bounce rate kaise kam kare easy method 2020

Difference between bounce rate and exit rate in Hindi, what is bounce rate in Hindi, bounce rate of website
how to target country specific website traffic, bounce rate meaning, what is bounce rate in Google Analytics, how to reduce bounce rate website.

Reduce bounce rate of website- दोस्तों जिनका ब्लॉग है, ब्लॉग्गिंग करते है। या फिर जिन्होंने ने अभी अभी ब्लॉग्गिंग शुरू की है। इन सभी ब्लॉग के लिए SEO बहुत ही जरुरी है। इस ब्लॉग में हम Bounce rate की बात करेंगे जो SEO का ही हिस्सा है। जो ब्लॉग्गिंग करते है उनको ये bounce rate kya hai? पता होगा लेकिन उनके ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट बहुत ज्यादा होगा इसको कम कैसे करे नहीं जानते होंगे।

Bounce rate meaning, website का bounce rate kaise reduce करे। इसके कुछ आसान tips बातएंगे। जिन्होंने न्य ब्लोगिंग शुरू किया है उनको बाउंस रेट के बारे में पता होना चाहिए। ताकि आगे उनको bounce रेट को लेकर कोई प्रॉब्लम न आये।

Bounce rate क्या है?(what is bounce rate in Google Analytics ?) Bounce rate meaning

बाउंस रेट क्या है? दोस्तों अगर कोई भी user organic search करके आपके website पर आता है। और उसने जो search किया उसका जवाब आपके वेबसाइट पर नहीं मिला। और वो चला जाये। अगर ऐसा सभी यूजर करते है। जिससे की आपकी वेबसाइट की bounce rate increase हो जाता है। आपने बहुत बार सुना होगा या पढ़ा होगा की वेबसाइट की बाउंस रेट कम होना चाहिए।

कई जिनका ब्लॉग है उनका bounce rate 80 से अधिक होता है। इसका मतलब users को आपके website का content, design अच्छा नहीं है। इसलिए आपकी वेबसाइट पर यूजर ज्यादा समय के लिए नहीं रहता। अगर आपकी वेबसाइट पर bounce rate 30% से 40% तक है तो आपकी website अच्छी है। bounce rate kaise kam kare इस प्रशन का उतर सभी ढूंढ रहे है ,जिनकी वेबसाइट का bounce rate 50% अधिक है।

Website का bounce rate कैसे चेक करे? बाउंस रेट कैसे पता करे?(How to check Bounce rate?)

अपनी वेबसाइट का बाउंस कैसे चेक करे? दोस्तों वेबसाइट पर बाउंस रेट आप कई sites से कर सकते है। लेकिन अगर आप ब्लॉग्गिंग करते है आप को पता होगा की google analytics का भी उपयोग करते होँगे। Google Analytics में आप बाउंस रेट daily, weekly और monthly basis पर bunce रेट देख सकते है। अगर आप किसी भी वेबसाइट या अपनी वेबसाइट की bounce रेट देखना चाहते है Alexa ranking से check कर सकते है।

Bounce rate kaise kam kare /How to reduce website bounce rate?

अगर आपका ब्लॉग या वेबसाइट है उसपर bounce rate अधिक है। आप परेशान है की website का bounce rate kaise kam kare.तो आप परेशान न हो हम आपके लिए कुछ आसान tips ऐसे देंगे। जिनसे आप bounce रेट को बहुत ही ज्यादा कम कर सकते है। दोस्तों एक बात हमेशा ध्यान रखे अपने वेबसाइट का bounce समय पर चेक करे इसे बढ़ने न दे।

Website page load speed Improve

बहुत से लोग जब अपनी वेबसाइट बनाते है तब उसकी लोडिंग speed पर ध्यान नहीं देते है। जिससे जब कोई यूजर आर्गेनिक search करके आपकी वेबसाइट पर आता है। लेकिन वेबसाइट की स्पीड स्लो होने के वजह से ओह दूसरी वेबसाइट पर चला जाता है। फिर search करोगे bounce rate kaise kam kare.. इसके लिए आपको heavy theme का उपयोग नहीं करना चाहिए। AMP Based ही themes का उपयोग करे।

Amp क्या होता है? Download free amp themes for bloggers

Website Design Mobile Friendly

दोस्तों आपने जरूर सुना होगा – first impression is the last impression. आपको अपनी वेबसाइट के डिज़ाइन को बहुत ही अच्छा बनाना होगा। जिससे की जब कोई यूजर आपकी की साइट पर आये तो वह आपके डिज़ाइन को देख कर रुके। वेबसाइट के डिज़ाइन को मोबाइल फ्रेंडली ही बनाना होगा। आज के समय सभी के पास मोबाइल फ़ोन है। इंटरनेट का उपयोग करने वालो की संख्या ज्यादा है। इसलिए आपको मोबाइल फ़ोन को ध्यान में रखते हुए ही वेबपेज को डिज़ाइन करो। जिससे की आपके वेबसाइट के पेज मोबाइल में सही से खुले।

Write unique High quality Content and bounce rate kaise kam kare

वेबसाइट का bounce rate increase होने का reason कई बार content का भी होता है। bounce rate kaise kam kare में आपको अपनी cotents को अच्छी तरिके से लिखना चाहिए। जब आप आर्टिकल लिखे तो पूरा user friendly ही लिखे। article में heading और sub-heading का सही से उपयोग करो। आपके के वेबसाइट अपर आर्गेनिक ट्रैफिक आ रहा है लेकिन bounce rate ज्यादा है इसका यही मतलब है की आपके वेबसाइट ओह नहीं है जो एक यूजर को चाहिए।

Always use Internal Linking and External Linking

website पर users को बने रहने के लिए आपके साइट पर पोस्ट सारे seo friendly होना चाहिए। article लिखना ही ब्लॉग्गिंग करना नहीं होता। जब आप पोस्ट लिखे तो उस टॉपिक से रिलेटेड ही Internal Linking करे। पोस्ट में external linking भी करे जो आपके पोस्ट से मिलते जुलते हो। Internal Linking करने आपके वेबसाइट के page views बढ़ते है।

Internal Linking क्या है? पोस्ट में इंटरनल लिंकिंग करना सीखे।

क्या होता है जब कोई यूजर एक टॉपिक search करके आता है। साथ ही अगर आप इंटरनल लिंकिंग करते है तो वह दूसरे पोस्ट पर जाकर उसे पढ़ता है इससे एक यूजर आपकी वेबसाइट पर ज्यादा रुकता है। इससे bounce rate bahut ही कम होता है।

Popup ads को remove करके bounce rate kaise kam kare

बहुत से अपनी वेबसाइट पर ज्यादा earning के लिए popups ads लगा लेते है। या फिर ads पर ज्यादा click आये इसके लिए भी popups ads लगा लेता है। जिससे अगर कोई यूजर आपके पोस्ट को read कर रहा है। लेकिन बार बार popups ads आ रहे है ,जिससे यूजर irritate हो जाता है आपकी साइट को leave कर जाता है। इससे bounce rate increase हो जाता है। ऐसे में हमें thirdparty apps नहीं उपयोग करना चाहिए। अगर आप इसे रिमूव कर देंगे तो आपका bounce rate काफी कम हो सकता है।

Website bounce rate kaise kam kare easy method

Difference between bounce rate and exit rate in Hindi, what is bounce rate in Hindi, bounce rate of website
how to target country specific website traffic, bounce rate meaning, what is bounce rate in Google Analytics, how to reduce bounce rate website.

Conclusion- दोस्तों bounce rate kaise kam kare मुझे उम्मीद है आपको ये सारे स्टेप समझ आ गए है होंगे। वैसे तो और भी कई टॉपिक है, लेकिन मैंने आपको वही टॉपिक बताये है जिससे वाकई में bounce rate को कम किया जा सकता है। पहले मेरे website का bounce rate 70 से 80% रहता था। लेकिन अब मैंने इन steps को follow किया है अब मेरी website का bounce rate 25% से भी कम है।

दोस्तों आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

Hi, I'm Virender Gupta Founder & CEO of Virenjitechnical. A blog that provides information blogging, Make Money Online, Latest tech updates.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: