Insurance kitne prakar ke hote hain बीमा क्या है?

Life Insurance in Hindi kitne prakar ke hote hain बीमा क्या है इन हिंदी और बीमा कितने प्रकार के होते है?

Insurance Types in Hindi- हेलो स्वागत है virenjitechnical.com ब्लॉग में आज हम insurance kitne prakar ke hote hain इस टॉपिक को विस्तार से जानेंगे। बीमा क्या है इन हिंदी बीमा कितने प्रकार के होते है?इन सभी सवालों के जवाब इस आर्टिकल में जानेंगे।

बीमा क्या है इन हिंदी (What is Insurance)

बीमा एक पॉलिसी है जो एक व्यक्ति और कंपनी के बिच किया जाता है। बीमा भविष्य में होने वालो नुकसान की भरपाई करती है। जब व्यक्ति पॉलिसी करवाता है तब वह कंपनी को निश्चित समय के लिए रकम भरता है। यदि समय से पहले व्यक्ति की आकस्मित मौत हो जाये तो कंपनी पॉलिसी के तहत उसकी भरपाई करती है और पैसे देती है।

इसी तरह बीमा कंपनी अगर घर, फ़ोन, कार, बाइक या किसी अन्य चीज की बीमा की गयी है और अगर टूट फूट या कोई नुकसान हो जाये फिर (Insurance Company)बीमा कंपनी मालिक को मुआवजा दे देती है।

Types of Insurance kitne prakar ke hote hain बीमा कितने प्रकार के होते है?

Types of Insurance-आज के समय जैसा की कोरोना काल चल रहा है। इस समय सभी बीमा कम्पनियाँ एक्टिव है। आजकल तो कई तरह के बीमा हो गए है जिनकी शायद गीनती ही नहीं है। लेकिन आमतौर पर बीमा दो तरह का ही होता है।

Types of Insurance | बीमा के प्रकार

  • जीवन बीमा (Life Insurance)
  • साधारण बीमा (General Insurance)

इसे जरूर पढ़े:- Top 5 best Insurance Companies in India 2021

जीवन बीमा (Life Insurance) insurance kitne prakar ke hote hain

जीवन बीमा वह है जो किसी व्यक्ति के जीवन का किया जाता है। अगर परिवार में अकेला मुख्या परिवार को चलाता है। अगर किसी कारण उसकी मृत्यु हो जाये। तब बीमा कंपनी वाले उनके परिवार वालों को जो नॉमिनी होगा उसको बीमा के हिसाब से पैसे देंगे। लाइफ इंशोरेंस (Insurance) यह एक तरह का नहीं होता इसमें भी कई भाग है।

टर्म इंशोरेंस में बीमा कुछ निश्चित समय के लिए कराया जाता है। इस प्लान में किसी तरह का कोई बेनिफिट नहीं मिलता। यह प्लान एक सेविंग्स प्लान जैसा ही होता है। इस प्लान में 10, 15, 20 या 30 साल अवधि तक का term Insurance करा सकते है।

Term Insurance Plan

इसके लिए ईयर को फिक्स किया जाता है फिर अमाउंट पाय किया जाता है फुल लाइफ कवर। अगर किसी कारणवश बीमा धारक की मौत हो जाये तब Term Insurance के policy के अंतर्गत तय रकम दी जाती है।

Endowment Policy

एंडोमेंट इंशोरस पालिसी में लाइफ इंशोरस (life Insurance) बीमा और निवेश दोनों ही किये जाते है। इसमें निश्चित अवधि के लिए रिस्क कवर होता है। इसमें पॉलिसी की अवधि ख़तम होने पर बोनस के साथ तय रकम सम इंश्योर्ड दिया जाता है।

इस Endowment Policy में खासियत है की इसमें मेडिकल का भी भुगतान किया जाता है इसमें पॉलिसी धारक की मौत के बाद पॉलिसी किट आय सिमा के आधार पर उसको पूरी रकम अदा की जाती है।

Money back Insurance Policy

मनीबैक इंशोरेंस पॉलिसी Endowment Policy की तरह ही है। इसमें बीमा और निवेश दोनों ही है। जैसे इस पॉलिसी के नाम से ही पता चलता है मनीबैक यानि पैसे वापस। इस पॉलिसी में कुछ साल तक रकम भरनी होती है इसके बाद policy के according 10 या 15 के बाद आपको हर 5 साल पर कुछ रकम वापस दी जाएगी Money back Insurance Policy के अन्तर्गत।

पॉलिसी की अवधि पूरा होने पर उसको maturity रकम के साथ बोनस भी दिया जाता है। इस बिच अगर मौत हो जाये तब इसकी पूरी रकम नॉमिनी को दी जाती है।

Whole Life Insurance Plan

आजीवन लाइफ इंशोरेंस इस policy में जीवनभर लाइफ प्रोटेक्शन मिलता है। इस policy का कोई term Insurance नहीं होता। इसमें पॉलिसीधारक की मौत होने पर उसका नॉमिनी ही पॉलिसी का क्लेम ले सकता है। इस policy में उम्र की सिमा नहीं होती है। यह पॉलिसी आजीवन लाइफ प्रोटेक्शन है इसमें अगर पॉलिसीधारक की मौत 95 में भी हो जाये तो नॉमिनी क्लेम कर सकता है। बाकि के पॉलिसी में ऐसा नहीं होता।

इस पॉलिसी की खास बात यह है Whole Life Insurance Plan में पॉलिसीधारक अपने सम इंश्योर्ड में पैसे निकल सकता है और तो वह इस पॉलिसी के जरिये लोन लेने का भी हक़दार हो जाता है।

Child Insurance Policy

चाइल्ड इंशोरेंस पॉलिसी में बच्चो की शिक्षा और जरुरत की खर्चो को पूरा करने के लिए बनाया गया है। इस पॉलिसी के तहत पॉलिसीधारक की मौत के बाद तय की रकम दी जाती है। लेकिन इस बिच Child Insurance Policy को रोका नहीं जाता है। इसकी बाकि पॉलिसी कंपनी भर्ती है और निश्चित समय तक बच्चो को पैसे देती है।

Retirement Plan

रिटायरमेंट प्लानमें लाइफ इंशोरेंस कवर नहीं होता। रिटायरमेंट प्लान एक रिटायरमेंट सोलुशन प्लान है। इस पालिसी के तहत तय की गयी समय सिमा के उपरांत आपको या आपके नॉमिनी को पेंशन के तौर पर रकम दी जाती है। यह प्लान सबसे अच्छा है अपने लिए सेविंग्स करने का। इस पालिसी का भुगतान मासिक, छमाही और सालाना इसका भुगतान किया जाता है।

बीमा क्या है इन हिंदी और बीमा कितने प्रकार के होते है? Life Insurance policy types in Hindi kitne prakar ke hote hain. वाहन बीमा के प्रकार

साधारण बीमा (General Insurance) insurance kitne prakar ke hote hain

साधारण बीमा में लाइफ इंशोरेंस को कवर नहीं किया जाता है। insurance kitne prakar ke hote hain में इसको विस्तार से जानते है। इसमें किसी वास्तु का बीमा किया जाता है। कोई महंगी चीज़ हो या हम किसी भी जैसे घर, कार, मोबाइल किसी वास्तु का आज के समय हम बीमा करा सकते है। उसकी फुल प्रोटेक्शन कवर ले सकते है।

घर का बीमा (Home Insurance)

घर अपना घर इसकी बीमा बहुत ही जरुरी है। क्यूंकि घर बनवाने में बहुत पैसे और मेहनत लगती है। ऐसे में अगर हम घर की पॉलिसी किसी भी कंपनी से करवाते है तब हमे घर सुरक्षा मिलती है। घर में किसी भी तरह के होने वाले नुकसान की भरपाई Insurance company करती है।

insurance kitne prakar ke hote hain
House/Home Insurance kitne prakar ke hote hain

पालिसी में आग, भूकंप या कोई प्राकृतिक आपदा, बाढ़ से होने वाले नुकसान यह सभी कवर किये जाते है। घर में आग लगना, चोरी हो जाना यह इन सभी का हर्जाना कंपनी ही भर्ती है बीमा में फुल House Insurance किया जाता है।

वाहन बीमा की जानकारी क्या है? (Motor Insurance)

भारत में आपको किसी भी तरह के वाहन को सड़क पर चलाने के लिए उसका बीमा(Insurance) हुआ होना चाहिए। अगर इन्शुरन्स नहीं तब पुलिस आपको जुरमाना लगा देगी। इसलिए भारत में जितनी भी बाइक या कार खरीदता है उसी समय उसका Insurance कर दिया जाता है।

insurance kitne prakar ke hote hain
insurance kitne prakar ke hote hain

दोस्तों वाहन बीमा बहुत ही जरुरी है बीमा पॉलिसी के अकॉर्डिंग हुए वाहन की नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करती है। जब कभी वाहन चोरी हो जाये तब बीमा कंपनी उसकी भरपाई करती है।

वाहन बीमा के प्रकार- इस बीमा का हमें तब फायदा होता है जब हमारे वाहन से किसी को चोट लग जाये या मौत हो जाये तब वाहन बीमा के प्रकार थर्ड पार्टी इंसोरेंस (Third Party Insurance) के तहत कवर किया जाता है। अगर आपके पास Two Wheeler या four wheeler कोई भी वाहन है उसका थर्ड पार्टी इंसोरेंस जरूर कराये।

फसल बीमा क्या है? ( Crop Insurance)

फसल बीमा यह किसानो के लिए बहुत ही जरुरी है। बाकि का बीमा हो या न हो लेकिन फसल बीमा जरुरी है। किसान इतने मेहनत से फसल उगाता है खेतो में। अगर नुकसान हो जाये तो वह क्या करेगा। इसलिए कई Insurance Company भारत में फसल की बीमा करते है।

इससे फसल को होने वाले नुकसान जैसे फसल खराब का होना, उसमे कीड़े लग जाना, बाढ़ का आना या फसल को आग लगना इन सभी नुकसान की भरपाई Insurance Company करती है।

लेकिन इस पॉलिसी में किसानो को फायदा बहुत ही कम मिलता है। बीमा कंपनी के कई कड़े नियम होते है। वह किसान के आस पास खेतो का निरक्षण करते है फिर वह देखते की अगर सभी के खेतो में वही फसल प्रॉब्लम है तभी मुआवजा दिया जाता है। वैसे भी फसल बीमा को लेकर किसानो में जागरूकता बहुत ही कम है।

यात्रा/ट्रेवल इंशोरेंस क्या है? (Travel Insurance)

यात्रा बीमा में यात्रा के दौरान होने वाले नुकसान की भरपाई Travel Insurance Company करती है। अगर आप कही बाहर विदेश घूमने या कही भी जाते है उस दौरान आपको चोट लग जाये या कोई आपका सामान चोरी हो जाये। ऐसे कंपनी मुआवजा देती है।

ट्रेवल पालिसी में यात्रा शुरू होने से लेकर ख़तम होने तक का किया जाता है। यात्रा पॉलिसी कंपनी के अलग अलग शर्ते होती है।

स्वाथ्य बीमा क्या है? (Health Insurance)

Health Insurance मार्किट में कई तरह के मौजूद है। कई इंशोरेंस कंपनी सबसे ज्यादा हेल्थ पालिसी देती है। आजकल बहुत सी बीमारी होने लगी है इसलिए स्वाथ्य बीमा जरुरी हो गया है। भविष्य में होने वाले बीमारी पर खर्च का पूरा मुआवजा इंशोरेंस कंपनी देती है।

इसे जरूर पढ़े:-Policy Bazaar की पूरी जानकारी हिंदी में ,पालिसी बाज़ार क्या है?

Conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिकल जाना बीमा क्या है इन हिंदी और बीमा कितने प्रकार के होते है? Life Insurance policy types in Hindi kitne prakar ke hote hain. वाहन बीमा के प्रकार। उम्मीद करता हूँ आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। insurance kitne prakar ke hote hain इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Hi, I'm Virender Gupta Founder & CEO of Virenjitechnical. A blog that provides information blogging, Make Money Online, Latest tech updates.

Leave a Reply